Monday , November 19 2018
Home / उत्तराखण्ड / उत्तराखंड का लाल शहीद जम्मू में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड का लाल हुए शहीद, घर पहुंचा पार्थिव शरीर
उत्तराखंड का लाल शहीद
उत्तराखंड का लाल शहीद

उत्तराखंड का लाल शहीद जम्मू में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड का लाल हुए शहीद, घर पहुंचा पार्थिव शरीर

Share This

 

उत्तराखंड का लाल शहीद
उत्तराखंड का लाल शहीद

उत्तराखंड का लाल शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी जम्मू में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड का लाल हुए शहीद, घर पहुंचा पार्थिव शरीर!

उत्तराखंड का लाल शहीद जम्मू में आतंकियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड का लाल हुए शहीद, घर पहुंचा पार्थिव शरीरजम्मू-कश्मीर के सुंजवां में तैनात उत्तराखंड के जांबाज जवान राकेश रतूड़ी देश के लिए शहीद हो गए हैं। शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी दस फरवरी को फिदायीन हमले में घायल हो गए थे। सैन्य अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी का पार्थिव शरीर मंगलवार देर सेना के विशेष हेलीकॉप्टर से दून लाया गया।

जम्मू कश्मीर के सुंजवान में दो दिन पहले फिदायिन हमला हुआ था। इस दौरान आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी (44 वर्ष) गंभीर रूप से घायल हो गए। सेना के अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था, लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी मूलरूप से पौड़ी गढ़वाल के पाबौ ब्लॉक की पट्टी बाली कंडारस्यूं स्थित सांकर सैंण गांव के रहने वाले थे। सालभर पहले ही उन्होंने देहरादून प्रेमनगर बड़ोवाला में मकान बनाया था। माता-पिता के साथ ही अन्य परिजन के लोग गांव में रहते हैं। वह अपने पीछे पत्नी नंदा देवी और दो बच्चों नितिन और किरण को छोड़ गए हैं।

शहीद के चाचा कर्मचारी नेता शेखरानंद रतूड़ी जी ने बताया कि महार रेजीमेंट में तैनात शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी साल 1996 में फौज में भर्ती हुए थे। उनकी शिक्षा राजकीय इंटर कॉलेज सांकर सैंण में हुई। वह तीन जनवरी को छुट्टी पर आए थे और 9 जनवरी को वापस चले गए। सोमवार शाम जम्मू से सैन्य अफसरों ने परिजनों को फोन पर बताया कि दो दिन पहले सुंजवां में हुए आतंकी हमले में हवलदार राकेश रतूड़ी बुरी तरह घायल हो गए थे। सैन्य अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली। इस खबर से परिवार में मातम पसर गया। पत्नी और बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। शहीद के चाचा शेखरानंद रतूड़ी जी ने बताया कि बुधवार को हरिद्वार में अंतिम संस्कार होगा। उन्होंने बताया कि शहीद हवलदार राकेश रतूड़ी जी ने एनएसजी कमांडो की भी ट्रेनिंग ली थी।

सीएम ने शहीद की शहादत को किया सलाम 
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सुजवांं आर्मी कैम्प पर हुए आतंकी हमले में उत्तराखंंड के जवान राकेश चन्द्र रतूड़ी की शहादत पर गहरा दुख व्यक्त किया। उन्होंने दिवंगत की आत्मा की शांति और दुख की इस घड़ी में उनके परिजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार शहीद के परिजनों की हर सम्भव सहायता करेगी।
Share This

Check Also

Shree Krishna Janmashtami

Shri Krishna Janmashtami कान्हा का जन्मदिन आने वाला है। उनके जन्मदिन यानी जन्माष्टमी की रात …

Show Buttons
Hide Buttons

Watch Dragon ball super